Romantic Short Poem for Lovers on Holi-Hindi Font

तेरे संग मेने खेली, मेरे कल्पना की होली
यही बात है मेने तुमसे अभी तक नहीं बोली
कोई रंग न बिखेरा, न गुलाल ही उड़ाया
सुन्दर यह रूप तेरा, बस प्रेम से सजाया
मेरी कल्पना से निकलो आओ खेलो होली
येही है वो बात जो मेने अभी तक तुमसे नहीं बोली !

No Responses